बद्रीनाथ भगवान के दर्शन भविष्य में होंगे भविष्य बद्री में जय – विजय पहाड़ से जुडा है रहस्य नरसिंह भगवान भविष्य बद्री उभर रही है प्रतिमा जंगल के बीच Bhavishya badri track 6 kms.

भविष्यबद्री Bhavishya Badri यानी भविष्य में होने वाला बद्रीनाथ धाम देवदार के वृक्षों से भरा शांत जंगल जहाँ पहुचते हैं साल दर साल अनेक श्रद्धालु, कहते हैं कलयुग के अंत तक हो जायेगा यहाँ दर्शन भगवान बद्री के दर्शन

भविष्य बद्री

भविष्य बद्री Bhavishya Badri

भविष्य बद्री विष्णु भगवान के रूप में पूजे जाते हैं जो की हिन्दू धर्म के आराध्य देव हैं यह मंदिर उत्तराखण्ड के उसी जिले में स्थित है जिस जिले में बद्रीनाथ भगवान के दर्शन वर्तमान में किए जाते हैं।

भविष्य बद्री के लिए मार्ग way to Bhavishya Badri temple

भविष्य बद्री के लिए मार्ग

भविष्य बद्री चमोली जिले के जोशीमठ से तपोवन (15 किमी.) फिर रिंगी होते हुए भविष्य बद्री तक पहुचा जा सकता है मंदिर देवदार के वृक्षों के बीच है जहाँ पर पहुचने के लिए आप बेहद खुबसूरत ट्रैकिंग का आनंद भी ले सकते हैं रिंगी के बाद आपको लगभग 5 से 6 किमी. पैदल जाना होगा जहाँ की सुभाई गांव में भविष्य बद्री की पूजा अर्चना की जाती है, गौरतलब है की उत्तराखण्ड यानी देवभूमि के इसी जिले में बद्रीनाथ भगवान का मंदिर भी है जहाँ पर वर्तमान में भगवान बद्रीनाथ यानी भगवान विष्णु की पूजा अर्चना की जाती है |

Bhavishya badri images

भविष्य बद्री तक का जिल्लेवार रास्ता 

गढ़वाल मार्ग Garhwal marg to Bhavishya badri

गढ़वाल मार्ग – देहरादून – ऋषिकेश – श्रीनगर गढ़वाल (पौड़ी) – रुद्रप्रयाग – चमोली 

कुमाऊं मार्ग Kumaon marg to bhavishya badri

कुमाऊं मार्ग – अल्मोड़ा – चमोली

Bahvishya badri story hindi भविष्य बद्री कथा हिंदी में 

Bahvishya badri story hindi भविष्य बद्री कथा हिंदी में

 भविष्य बद्री से जुडी एक बेहद ही रोचक कथा है जो की वर्तमान बद्रीनाथ मंदिर से जुड़ी है और साथ ही कलयुग से भी जुड़ी हैकहा जाता है की आने वाले समय में वर्तमान बद्रीनाथ के दर्शन जय – विजय पहाड़ के नजदीक आने से और नरसिंह की मूर्ति में से हाथ गिर जाएगा जिसके बाद आने वाले समय में बद्रीनाथ मंदिर के दर्शन भविष्यबद्री में होंगे।

भविष्य बद्री देवदार के जंगलों के बीच है जहां पर वर्तमान समय में मूर्ति पर बेहद हल्की से छवि प्रदर्शित हो रही है कहा जाता है की जब जय – विजय नाम के पहाड़ बेहद नजदीक आ जायेंगे तब यह छवि और भी अधिक प्रदर्शित होगी, और यह देखा यह देखा गया है की छवि पिछले कुछ समय में और अधिक उभरी ही है अतः आने वाले समय में बद्री भगवान के दर्शन इसी स्थान पर होंगे।
यह जय – विजय नाम का पहाड़ विष्णुप्रयाग में स्थित है, इसे कुछ इस प्रकार भी समझा जा सकता है की आने वाले समय में ही भगवान बद्रीनाथ का नया मंदिर स्थापित होगा जहां पर सभी श्रद्धालु दर्शन के लिए जायेंगे, आज भी यहां अनेक श्रद्धालु अपनी मनोकामना लेकर दर्शन करने आते हैं।
भविष्य बद्री, चमोली

भविष्य बद्री का अर्थ Meaning of Bhavishya badri

भविष्य बद्री, चमोली दो शब्दो से मिलकर बना है भविष्य + बद्री अतः जिसका शाब्दिक अर्थ निकलता है भविष्य में बद्री|
भविष्य बद्री बेहद सुंदर स्थान पर स्थित है जहां पर सुंदर प्राकृतिक दृश्य मौजूद हैं आप इन दृश्यों को बेहद पसंद करेंगे, साथ ही यदि आप ट्रैकिंग के लिए कोई जगह देख रहे हैं तो भविष्य बद्री एक अच्छा विकल्प हो सकता है।
भविष्य बद्री से जुड़ी कुछ फोटोज देखने के लिए क्लिक करें

2 thoughts on “भविष्य बद्री

Leave a Reply

Your email address will not be published.

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website.