Shivalaya temple Near sanji famous in Gairsain Sivalaya mandir hindi darimdali near temple Dhunarghat शिवालय मंदिर सैजी धुनरघाट के नजदीक 

शिवालय धुनारघाट shivalaya

शिवालय गैरसैंण के प्रसिद्ध मंदिरों में से एक नजदीक ही धुनारघाट – सैजी गांव के नजदीक बद्रीनाथ रोड चमोली मंदिर के विषय में कहा जाता है की मंदिर उस समय का बना है जब आदि गुरु शंकराचार्य ने उत्तराखण्ड में मंदिर निर्माण किए थे

Shivalaya mandir Gairsain

शिवालय मंदिर मार्ग way to shivalaya gairsain

शिवालय मंदिर गैरसैंण जो की उत्तराखण्ड राज्य की ग्रीष्मकालीन राजधानी है के नजदीक गैरसैंण – मेहलचौरी मार्ग पर स्थित है शिवालय मंदिर चमोली के विषय में जैसा की आपको पहले ही बताया गया है यह बद्रीनाथ मार्ग पर गैरसैंण के नजदीक है धुनारघाट और दाड़ीमडाली के नजदीक स्थित है मंदिर आपको सड़क से ही दिखाई पढ़ जायेगा, यहां आप हर मौसम में दर्शन करने पहुंच सकते हैं परन्तु शिवरात्रि के दौरान यहां भक्तजनों का तांता लग जाता है

मंदिर तक पहुंचने के लिए जिलावार मार्ग नीचे दिया गया है 

गढ़वाल मार्ग Garhwal marg to Nageshwar mahadev mehalchauri

गढ़वाल मार्ग – देहरादून – ऋषिकेश – श्रीनगर गढ़वाल (पौड़ी) – रुद्रप्रयाग – चमोली – गैरसैंण

मेहलचौरी

कुमाऊं मार्ग Kumaon marg to Nageshwar Mhadev chamoli

कुमाऊं मार्ग – अल्मोड़ा – चमोली

शिवालय मंदिर के विषय में जानकारी Information of shivalaya chamoli

शिवालय मंदिर दाड़ीमडाली गांव के ठीक बाद सड़क मार्ग के दूसरी ओर स्थित है जो की सड़क से आसानी से दिखाई पड़ जाता है।
मंदिर तक जाने के लिए बीच में झूला पुल है जिसका इस्तेमाल नजदीकी गांव के लोग भी करते हैं इसके बाद नदी किनारे ठंडी हवाओं के साथ मंदिर के लिए रास्ता है जिसके बाद आप मंदिर के सामने पहुंचते हैं जहां पर जूते, चप्पल उतारने के लिए स्थान का निर्माण किया गया है इसके बाद आगे बढ़ते हुए आपको एक छोटा – सा जल स्त्रोत मिल जायेगा जहां पर आप हाथ पैर धो सकते हैं।
इसके बाद शुरू होता है शिवालय मंदिर प्रांगण जहां पर अनेक पेड़ो की छाया है साथ ही मंदिर समूह और घंटियों की आवाज से आप बेहद शांति का अनुभव करेंगे, मंदिर में मुख्य मंदिर भगवान शिव का है जिस वजह से मंदिर का नाम शिवालय है यानी जहां पर शिव का आलय है शिवालय कहलाता है।
आसपास अनेक छोटे – छोटे मंदिर हैं जो की स्थानीय लोगो द्वारा समय – समय पर निर्मित किए गए हैं जिन पर निर्माण कर्ताओं के नाम भी अंकित हैं।

शिवालय मंदिर चमोली से जुड़ी कथा story of shivalaya temple

शिवालय धुनारघाट में मुख्य मंदिर भगवान शिव का है जिसे देख कर ही आसानी से लग जाता है की यह पौराणिक समय में बना है मन्दिर में एक बार पूजा के दौरान स्थानीय पण्डित से पूछने पर पता चला था की मंदिर का निर्माण पांडव और आदि गुरु शंकराचार्य के दौरान का निर्मित है जिसे की मंदिर की बनावट को देख कर पता लग जाता है मंदिर पत्थरों से निर्मित है साथ ही नजदीक में एक छोटा – सा घर है जिसमे मन्दिर में पूजा करने वाले पुजारी निवास करते हैं।

shivalaya mandir darimdali

शिवालय मंदिर दाडिमडाली shivalaya mandir dadimdali

हमारे द्वारा आपके लिए Shivalaya mandir, chamoli से सम्बन्धी अधिक से अधिक जानकारी प्रदान की गई है यदि आप किसी प्रकार का सुझाव या जानकारी देना चाहते हैं तो आप कॉमेंट या ईमेल के जरिए हमसे सम्पर्क कर सकते हैं 

mail click here

भैरव गढ़ी 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website.