भैरवगढ़ी स्थानीय गढ़वाली में भेरुगढ़ी गढ़वाल और कुमाऊँ के बीचो-बीच बसा श्रद्धा का प्रतीक Bhairaw Garhi Bhairaw gadi

भैरवगढ़ी उत्तराखण्ड के चमोली और अल्मोड़ा जनपद की सीमा पर स्थित है जिसे की नजदीकी लोग आम भाषा में भेरुगढ़ी के नाम से भी पुकारते हैं जो गढ़वालियो और कुमाउनी दोनों क्षेत्रो की विशेष श्रद्धा का केन्द्र है |

Bhairav Garhi भैरवगढ़ी

भैरवगढ़ी मन्दिर मार्ग Bhairav Garhi route

भैरवगढ़ी मन्दिर सड़क से लगभग 3 से 4 किमी. दुरी पर स्थित है यह मार्ग जंगल से होते हुए मन्दिर तक पहुचता है मन्दिर मार्ग में बैठने के लिये स्थान बनाये गये हैं और साथ ही भैरवगढ़ी मन्दिर सड़क से ऊपर की ओर सबसे अधिक उचाई वाली छोटी पर स्थित है |

मन्दिर मार्ग में अनेक जगहों से आप सुन्दर प्राकृतिक नजरों का आनन्द ले सकते हैं और साथ ही मन्दिर पहुचने पर आप चारो ओर से घिरी पहाडियों को आसानी से देख पायेंगे, चाहे वह गढ़वाल की हो या कुमाऊ की सभी अद्भुत दिखाई देती हैं |

सड़क से भैरवगढ़ी मन्दिर के लिये मार्ग Road to Bhairav gadi temple route

भैरवगढ़ी मन्दिर गढ़वाल-कुमाऊ के बीच बसा है जिससे आप उत्तराखण्ड में किसी भी स्थान से यहाँ लगभग बराबर दुरी तय कर पहुंच सकते हैं यदि आप गढ़वाल में हैं तो आपको चमोली के कर्णप्रयाग से होते हुए गैरसैंण पहुचना होगा और यदि आप कुमाऊ में हैं तो आपको अल्मोड़ा से होते हुये चौखुटिया पहुचना होगा |

भैरवगढ़ी मन्दिर के लिये जाने वाले रास्ते पर पान्डुवाखाल से निकट ही कुनिगाड़, चौखुटिया, मेहलचौरी, द्वारहाट, खनसर और नागचूला क्षेत्र स्थित हैं |

अन्य सम्बन्धित लेख कर्णप्रयागगैरसैण

 

 

भैरवगढ़ी मन्दिर Bhairav Garhi Temple

kaal bhairaw mandir panduwakhal काल भैरव मन्दिर पान्डुवाखाल

भैरवगढ़ी मन्दिर के लिये पैदल मार्ग चमोली जनपद और अल्मोड़ा जनपद के बीच पान्डुवाखाल नामक जगह से होते हुये जाता है जो की लगभग 3 से 4 किमी. पैदल मार्ग है, मार्ग के प्रारम्भ में कालभैरव का मन्दिर स्थित है जो की सड़क से कुछ ही मीटर की दुरी पर सड़क से ही दिखाई देता है, कालभैरव मन्दिर के बाद आगे का पैदल मार्ग शुरू होता है |

ऊपर की ओर जाने पर सुन्दर दृश्य, प्राकृतिक नजारे शुरू होते हैं, मन्दिर से कुछ दुरी पर पानी का एक कुण्ड है जिसमे बरसात के समय पर पानी जमा हो जाता है और कहा जाता है की यह पानी मेहलचौरी के निकट माईथान मार्ग पर किसी स्थान से निकलता है और फिर मन्दिर के नजदीक पूजा कार्यक्रम और अन्य किसी प्रकार के धार्मिक कार्यक्रम के लिये एक भवन का निर्माण किया गया है |

अन्य सम्बन्धित लेख मेहलचौरी, Chaukhutiya

 

भैरवगढ़ी मन्दिर से जुडी अन्य जानकारी Other information Of Bhairav Garhi Temple

भैरवगढ़ी मन्दिर में समय – समय पर गढ़वाल – कुमाऊ के विभिन्न स्थानों से विभिन्न व्यक्तियों, ग्रामो से पूजा अर्चना कि जाती है जिसका कारण भैरवगढ़ी पर लोगो का अटूट विश्वास है |

यदि किसी प्रकार की कोई जानकारी या सुझाव आपके पास भैरवगढ़ी मन्दिर से सम्बन्धित है तो आप उसे हमारे साथ शेयर कर सकते हैं शेयर करने के लिये हमें मेल करें या कमेंट करें

1 thought on “Bhairav Garhi mandir भैरवगढ़ी मन्दिर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website.