Chandan हिंदी में चन्दन महत्व उपयोग कृषि प्रसारण चन्दन औषधि सिंचाई पौध संख्या चन्दन के लाभ chadan tree importance agricultre income

Chandan चन्दन को चन्दन के पेड़ की लकड़ी को घिस कर प्राप्त किया जाता है यह हर प्रकार से बेहद महत्वपूर्ण होता है जिसकी कृषि एवं साथ ही जानकारी बेहद अहम रहती है चन्दन का पेड़ कृषि सम्बन्धी जानकारी

chandan

चन्दन (Chandan) कृषिकरण तकनीक

साधारण नाम – चन्दन, श्रीगन्ध

व्यापारिक नाम – Santalum album Linn.
सेन्टलम एल्बम

वानस्पतिक नाम – चन्दन

कुल – सेन्टेलेसी

वर्तमान स्थिति – संकट ग्रस्त

प्रयुक्त भाग – जड़, तना व हार्ट वुड

चदन के प्रमुख सक्रिय संघटक

Alovera

Chandan चन्दन की जड़ों तथा तनों में प्रमुख सक्रिय संघटक में एल्फा सेन्टीनोल, वीटा सेन्टीनोलतथा 95 प्रतिशत आइसोमेरिक टर्पीन एल्कोहल पाये जाते है। इसके अतिरिक्त सेन्‍्टीन, सेन्टीनोन, टेरासेन्टोल तथा सेन्टालीन भी पाये जाते है।

चन्दन के औसधीय उपयोग

चन्दन का उपयोग सौन्दर्य प्रसाधन सामग्री, इत्र, साबुन तथा औषधीय सुगन्ध चिकित्सा पद्धति में होता है।

चन्दन के लिए भूमि और जलवायु

चन्दन का प्रवर्धन एवं प्रसारण बीजों द्वारा किया जाता है। बीजो का एकत्रीकरण समय
जनवरी से मार्च है और बीजों को अंकुरण से पहले जिब्रेलिक एसिड से उपचारित करना चाहिए ्््ख़़

ऊंचाई- चन्दन के कृषिकरण के लिए समुद्र तल से 300 से 1050 मी0 की ऊँचाई उपयुक्त होती है।

chadan tree दूरी- चन्दन के पौध रोपण के लिए 45 सेमी * 45 सेमी *45 सेमी0 गढ़ढो का निर्माण किया जाता है व पौधे से पौधे
की दूरी 20 * 20 फीट उपयुक्त होती है।

पौध संख्या- चन्दन के कृषिकरण में यदि पौधे से पौधे की दूरी 20 *20 फीट रखी जाय तो प्रति नाली 10 पौध तथा प्रति
हेक्टेयर 500 पौध की आवश्यकता होती है।

सिंचाई ,निराई-गुडाई एवं खरपतवार नियंत्रण चन्दन के लिए

चन्दन की सिंचाई सप्ताह में दो बार अवश्य करनी पडती हे, प्रति पौधे को सप्ताह में दो ली0 पानी देना उत्पादन की दृष्टि से उपयुक्त होता है, पौध रोपण से आठ वर्षो तक दो और तीन माह के अन्तराल मे नियमित निराई-गुडाई एवं खरपतवार नियंत्रण की दृष्टि से अति आवश्यक होता है।

चदन की फसल कटाई

चन्दन की फसल कटाई तीन से साठ वर्ष तक की जा सकती है लेकिन व्यवसायिक कृषिकरण में चन्दन
की कटाई बारह वर्ष के पश्चात्‌ की जाती है।

चन्दन का औसतन उत्पादन

चन्दन का औसतन उत्पादन प्रति नाली 22 9 किग्रा0 हार्ट वुड तथा 4438 किग्रा0 प्रति हैक्टयेर होताहै।

बाजार दर – चन्दन की हार्ट वुड का वर्तमान बाजार दर रु0 6000 प्रति किग्रा0 तक है।

Himalayan mountain photos

चन्दन से आय-व्यय का विवरण

कृषिकरण लागत प्रति है0 –
रु 5,6१,800 प्रति है0
कुल लाभ रु0 –
रु 6,86,25,000 प्रति है0
शुद्ध लाभ -रु 6,70,63,200 प्रति है0

यह आर्टिकल जड़ी – बूटी शोध एवं विकास संस्थान के पूर्व प्रकाशित पत्र से लिया गया है एवं इस जानकरी को प्रसारित करने का उद्देश्य लोगो तो जानकरी को पहुचना है और जागरूकता है न की किसी प्रकार का स्वामित्व है यदि आपको इस आर्टिकल से किसी प्रकार की समस्या है या आप कोई सुझाव देना चाहते हैं तो आप हमें ईमेल कर सकते हैं हमें मेल करने के लिए क्लिक करें या कमेंट करें

हिमालयी दवाइयां

Leave a Reply

Your email address will not be published.

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website.