माता संतला देवी देहरादून कथा हिंदी में प्रसिद्ध मंदिर देहरादून में 2 3 किमी की चढ़ाई Mata santla devi story dehradun aurangjeb attack mugal on santala devi

संतला देवी मंदिर देहरादून मुगल सम्राट औरंगजेब के आक्रमण के बाद शीला में बदल गए थे दोनों भाई बहन मंदिर में स्थानीय लोगों की विशेष आस्था है यहां काफी संख्या में लोग दर्शन के लिए आते हैं आज भी है यह खास मंदिर

माता संतला देवी

माता संतला देवी मार्ग Way to Santala devi

माता संतला देवी उत्तराखण्ड देहरादून में संतोर गढ़ में स्थित है देहरादून उत्तराखण्ड की ग्रीष्म कालीन राजधानी है यहां आप उत्तराखण्ड के विभिन्न हिस्सों से आसानी से पहुंच सकते हो चाहे वह सड़क मार्ग हो या हवाई या ट्रेन मार्ग।

सड़क मार्ग संतला देख By Road Santla devi

सड़क से संतला देवी मंदिर तक पहुंचने के लिए आप उत्तराखण्ड के जिस भी जगह से हैं आपको नीचे दिए जिलों से होते हुए रास्तों (जिल्लों) के नाम को फॉलो करना होगा

कुमाऊं – अल्मोड़ा – चमोली – रुद्रप्रयाग – पौड़ी – टिहरी – ऋषिकेश – देहरादून

हवाई मार्ग माता संतला देवी मंदिर By Air Santla Devi

देहरादून यहां आप जल्दी भी पहुंच सकते हैं बस जौलीग्रांट एयरपोर्ट का टिकट बुक कीजिए और आप देहरादून में हैं।

नानकसर गुरुद्वारा देहरादून (विशेष)

ट्रेन मार्ग से संतला देवी By train Santla devi Dehradun

संतला देवी मंदिर पहुंचने के लिए आप चाहें तो ट्रेन की टिकट बुक कर भी पहुंच सकते हैं जिससे आप आसानी से देहरादून में पहुंच जाएंगे ।

देहरादून में पहुंचने के बाद आप संतला देवी पहुंचने के लिए कैब या मैजिक कर सकते हैं फिर आपको बस कुछ दूरी पैदल पहाड़ की ओर चढ़ाई करनी होगी जो लगभग 2 से 3 किमी. है फिर आप संतला देवी मंदिर तक पहुंच जायेंगे।

माता संतला देवी कथा Story of Mata santla Devi

माता संतला देवी कथा Story of Mata santla Devi

माता संतला देवी से जुड़ी मान्यता है कि हजारों वर्ष पूर्व जब माता संतला अपने भाई संतोर के साथ यहां रहती थी तब मुगलों द्वारा इस जगह पर आक्रमण किया गया जिसके बाद लम्बे समय तक युद्ध चला और आखिरकार मुगलों की हार हुई परन्तु इस युद्ध में बहुत अधिक नरसंहार हुआ जिस कारण बाद में दोनों भाई – बहनों ने अपने शरीर का त्याग कर शीला रूप ले लिया तभी से कहा जाता है कि दोनों इसी स्थान पर विराजमान हैं और इस स्थान को दोनों भाई – बहनों के प्रेरणा प्रतिरूप माना जाता है, इस स्थान पर स्थानीय लोगो की विशेष आस्था है यहां क्षेत्रीय लोग बहुत अधिक संख्या में दर्शन करने आते हैं यह मंदिर सड़क से 2-3 किमी. की चढ़ाई में है जहां तक हर कोई आसानी से पहुंच सकता है।

हिलजात्रा उत्तराखण्ड – नेपाल

Santala Devi Information संतला देवी जानकारी

हमारे द्वारा आपके लिए माता संतला देवी सम्बन्धी अधिक से अधिक जानकारी प्रदान की गई है यदि आप किसी प्रकार का सुझाव या जानकारी देना चाहते हैं तो आप कॉमेंट या ईमेल के जरिए हमसे सम्पर्क कर सकते हैं (ईमेल करने के लिए क्लिक करें)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website.