Table of Contents

✅ ✅ ग्लोबल कोरोना वायरस क्वारंटाइन कैसे करते हैं किन बातों का ध्यान रखें 2 मिनट में जाने How to quarantine for global corona virus or Covid-19

home quarantine uttrakhand
          ग्लोबल कोरोना वायरस  या कोविड – 19 दुनिया में आज सबसे अधिक भयावह रूप ले रही है परन्तु यदि कुछ कुछ नियमो का पालन प्रत्येक व्यक्ति द्वारा किये जायें जो की सरकार द्वारा बताये गये हैं और लगातार समाचार , टी.वी. , रेडियो और अन्य माध्यमो से बताये जा रहे हैं तो ग्लोबल कोरोना वायरस को फेलने से रोका जा सकता है |
         और अधिकतर मामलो में तो रोगी जल्द ही ठीक भी हो जाता है सिर्फ यह बीमारी बच्चो और बूढ़े व्यक्तियों में ज्यादा फेलती है क्योकि बच्चे और बुढ़ों में रोगों से लड़ने की क्षमता कम होती है |

कोरोना क्या है About corona

    कोरोना  एक वायरस यानी विषाणु जनित रोग है जो की विषाणु द्वारा प्रसारित होती है और संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से फेलती है |
corona art
thanks to shalini

  क्वारंटाइन का क्या है What is quarantine

   कोरोना  से बचाव के लिये फ़िलहाल किसी भी तरह की सटीक दवाई ( वैक्सीन ) अभी तक नही बन पायी है जिस कारण पुरे विश्व में क्वारंटाइन को प्राथमिकता के रूप में कारगर माना गया है |
क्वारंटाइन Quarantine यानी अलग होना है 
   यदि कोई व्यक्ति कोरोना  से संक्रमित यानि ( कोरोना पॉजिटिव ) है तो उसे क्वारंटाइन यानि अलग कमरे में रखा जाता है या ऐसे किसी स्थान पर रखा जाता है जहाँ भीड़ – भाड ना हो और संक्रमित व्यक्ति द्वारा सामान्य स्वस्थ व्यक्ति में कोरोना का प्रसार ना हो |
  कोरोना में  ध्यान देने योग्य बात यह है की यदि कोई व्यक्ति कोरोना से संक्रमित रोगी के संपर्क में भी आता है तो उसे भी क्वारंटाइन करना चाहिये और आस पास रहने वाले व्यक्तियों को क्वारंटाइन वाले व्यक्ति से क्वारंटाइन के दौरान दुरी बनानी चाहिये |
   जिससे कोरोना  के संक्रमण को रोका जा सके |

कोरोना क्वारंटाइन कितने दिनों तक करना चाहिये Quarantine Days

  सामान्यत: कोरोना रोग  के लक्षण 4 से 14 दिनों के भीतर दिखाई देने लगते हैं जिसमे ख़ासी, जुकाम और साँस लेने में दिक्कत होती है |
  परन्तु इस तरह के लक्षण सामान्य जुकाम से भी हो सकते हैं अतः घबराये नही बल्कि स्वाथ्य हेल्पलाइन पर कॉल कर आप जानकारी ले सकतें हैं

हेल्पलाइन नंबर नीचे दिये जा रहे हैं जिन्हें आप सेव कर लें

📞  व्हाट्सएप्प हेल्पलाइन 9013151515 ( सेव करने के बाद hellow लिखें )

कालिंग हेल्पलाइन या अन्य हेल्पलाइन

📞 011-23978046
☎️ 1075
✉️ ncov2019@gov.in

भारत सरकार द्वारा आम नागरिको के लिये फ्री एप्प आरोग्य सेतु एप्प Aarogya setu app

👉Arogya setu आरोग्य सेतु

क्या है आरोग्य सेतु एप्प What is Aarogya Setu app

  भारत सरकार द्वारा ग्लोबल कोरोना वायरस से लड़ने के लिए एप्प बनायी गयी है जिसका नाम आरोग्य सेतु एप्प है इस एप्प को अपने फ़ोन में डाउनलोड कर लीजिये जिससे जब भी आप प्रवासी या किसी ऐसे व्यक्ति के निकट से गुजरेंगे जो कोरोना संक्रमित रहा है या रेड जोन से आया हो यह एप्प आपको उसी समय अलर्ट कर देगा और उस व्यक्ति से उचित दुरी बनाने के लिए कहेगा |
  एवं इस आरोग्य सेतु एप्प का उपयोग कर आप खुद का टेस्ट भी कर सकते हैं की आपको निकट लोगो से संक्किरमण का कितना खतरा है |

कोरोना संक्रमण कैसे हो सकता है How can Corona can Transfer from one to another

  कोरोना  एक संक्रामक यानी ऐसी बीमारी है जो किसी भी कोरोना के रोगी के संपर्क में आने से हो सकता है |
  कोरोना  का प्रसार सिर्फ रोगी के सम्पर्क में आने से नही होंता बल्कि यह रोगी द्वारा छुयी हुयी वस्तु या इस्तेमाल की गयी वस्तुओ से भी हो सकता है |
  अतः आपको रेड जोन से आये व्यक्ति से दुरी और प्रवासियों को किसी भी ऐसी जगह से दुरी बनानी चाहिये जहाँ भीड़ हो या अनेक व्यक्ति रहते हो क्योकि भीड़-भाड़ वाली जगह से संक्रमण की सम्भावनाये अधिक हो जाती हैं जिसके कारण प्रवाशी यानी बाहर से आये लोगो को कम से कम 14 दिनों तक किसी अलग स्थान पर रहना चाहिये |

कोरोना क्वारंटाइन में क्या करें what we have to do in Corona quarantine

  सबसे पहले आपको कोरोना के विषय में यह जान लेना चाहिये की यह संक्रामक यानि ऐसी बीमारी है जो संपर्क में आने से या रोगी के द्वारा छुयी वस्तु को छूने से भी फ़ैल सकता है और कोरोना के लक्षण लगभग 4 से 14 दिन में दिखायी देते हैं और सामान्य लक्षण ख़ासी , बुखार और साँस लेने में दिक्कत होती है जो धीरे – धीरे इतनी बढ़ जाती है की रोगी को अस्तपताल में भर्ती कराना पढ़ता है परन्तु यह गंभीर लक्षण केवल कुछ ही लोगो में दिखायी देते हैं यदि रोगी को समय पर क्वारंटाइन या समय पर अलग नही किया गया तो यह बीमारी आस-पास के सभी लोगो में फ़ैल जाती है और समय पर ईलाज ना मिलने पर मृत्यु भी हो सकती है |
  1. कोरोना  क्वारंटाइन में रह रहे लोगो से उचित दुरी बनाये |
  2. कम से 14 दिनों तक उन्हें अलग रहने दें
  3. यदि किसी व्यक्ति में कोरोना  के लक्षण दिखायी देते हैं तो तुरंत हेल्पलाइन पर कॉल कर या नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र से सम्पर्क कर जानकारी दें
  4. कोरोना रोगी  को जितनी जल्दी ईलाज मिलता है वह उतनी ही जल्दी स्वस्थ होता है और रोगी से अन्य स्वस्थ व्यक्ति में रोग के फैलाव की संभावना उतनी ही कम हो जाती है |
  5. कोरोना रोग लक्षण दिखने पर भी यदि रोगी को उपचार न दिया जाये तो इससे गम्भीर स्थिति उत्पन्न हो सकती है |
  6. यदि आपके आस पास कोई क्वारंटाइन में है तो उसके लिये खाने-पीने, बाहर जाने (वाशरूम) की अलग व्यवस्था की जाये और यदि खाने पीने की व्यवस्था नही की जा सकती तो कुछ इस प्रकार से उन्हें रखा जाये की उनके द्वारा छुयी हुयी कोई भी वस्तु आप या अन्य स्वस्थ व्यक्तियों के संपर्क में ना आये |
  7. और क्वारंटाइन के व्यक्ति के खाने के बर्तन, पहनने के लिए कपड़े , सोने, सभी प्रकार की वस्तुयें क्वारंटाइन के समय अलग होनी चाहिये |
  8. कोरोना रोगी को अच्छी हवादार जगह पर क्वारंटाइन करके रखें जिससे उनके स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव ना पड़े ।

कोरोना से बचाव कैसे करें How to prevent corona

  1. कोरोना  से बचाव के लिये सबसे पहले मास्क पहनें |
  2. जब तक कोरोना संक्रमण  पर नियंत्रण नही हो जाता या उचित दवाई ( वैक्सीन ) नही बन जाती तब तक भीड़ वाली जगहों पर जाने से बचें , और जब तक आवश्यक ना हो घर से ना निकलें |
  3. आरोग्य सेतु एप्प को अपने फ़ोन में डाउनलोड कर लें |
  4. प्रवाशी ( बाहर से आने वाले व्यक्ति ) स्वयं क्वारंटाइन में रहें , लोगो से उचित दुरी बना लें ,जगह – जगह छुने और थूकने से बचें |
  5. छींक आने या ख़ासी आने पर मुंह पर कुछ लगा दें ( छींकने या खासने पर अनेक छोटी – छोटी बुँदे निकलते हैं जो की कोरोना संक्रमण  फेलाने में सहायक होती हैं अतः कुछ न कुछ मुह पर जरुर लगा लें )
  6. हाथ मिलाने से बचें |
  7. जब तक जरुरी ना हो सामुदायिक स्थानों पर ना जायें |
  8. केवल जरुरी सामन लेने ही घर से निकले और सारा जरुरी सामन एक बार में ही खरीदें बार – बार सामान लेने जाने पर भीड़ अधिक होगी और संक्रमण होने की सम्भावनायें अधिक होंगी |
  9. कुछ भी खाने-पीने से पहले अपने हाथो को साबुन से कम से कम 20 सेकण्ड तक धोयें, यदि साबुन से हाथ धोना उस समय संभव न हो तो सेनिटाज़र का इस्तेमाल करें |
  10. वर्तमान समय में कोरोना की दवाई (वैक्सीन) तैयार नही हुई है अतः आयुष मंत्रालय ने भारत के पौराणिक ज्ञान आयुर्वेद से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने की सलाह दी है जिससे कोरोना से महामारी से लड़ने में सहायता मिल सके |
  11. जब भी आप घर से बाहर हो या जहाँ से संक्रमण का खतरा होता है तब आपको अपने हाथो को अपने मुहँ, आंख, नाक और शरीर के किसी ऐसे भाग को चुने से बचना है जहाँ पर घाव हो |
  12. शरीर पर यदि किसी तरह का घाव है तो उस घाव को पट्टी / बैंडडेज से या किसी और तरह से ढक लें और ध्यान रखें की जिस भी तरह से आप घाव को ढकें वह पूरी तरह से साफ़ हो |
  1. आयुर्वेद अनुसार : : हमे स्वस्थ जीवन शेली अपनानी चाहिये (to fight corona)
  • दिनभर हल्का गुनगुना पानी पीना चाहिये
  • प्रतिदिन योग करें जिसमे कम से कम 30 मिनट प्राणायाम और ध्यान करें |
  • भोजन में हल्दी , धनिया , जीरा, लहसुन का उपयोग करें |
9c9a8137 329b 417e 967c 4dc8e48e4d8d%2B%25281%2529
आयुष मंत्रालय द्वारा

कोरोना महामारी से लड़ने के लिये सुझाव suggestions from friends for corona articles

   कोरोना महामारी  से लड़ने के लिये अनेक सुझाव हमने मित्रो से प्राप्त किये जिसके लिए हम सभी मित्रो का धन्यवाद करते हैं और सभी के नाम नीचे जोड़े जा रहे हैं |
  • Dr. S. sati Gi
  • Jagdish singh (M. Pharma.)
  • shivam singh (M.Sc. chemistry, U.P.)
  • abhinav mitra (M.Sc. zoology)
             एवं यदि अन्य किसी प्रकार का सुझाव कोई देना चाहे तो नीचे कमेन्ट कर जानकारी दे सकता/सकती है सुझाव में किसी भी तरह की जानकारी दी जा सकती है परन्तु जानकारी कोरोना से सम्बंधित होनी चाहिये |
आप ई – मेल भी कर सकते हैं इसके लिये यहाँ क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website.