संगीताचार्य शुभम उनियाल जी भजन संध्या Acharya sangeet shubham uniyal Uttarakhand

Sangeet aacharya Shubham uniyal” हमारे साथ जुड़ें जब हम उसके संकल्प, आध्यात्मिकता, और शिक्षा और कला दोनों के प्रति समर्पण की कहानी में खुद को डूबेंगे

संगीताचार्य शुभम उनियाल

Aacharya Shubham uniyal ji Uttarakhand

Shubham Uniyal Achrya शुभम उनियाल, फरवरी 1998 को भारत के उत्तराखंड राज्य के रुद्रप्रयाग जिले के प्राकृतिक और पिक्चरेस्क नौला गांव में पैदा हुए, कार्यकुशलता और उपलब्धि का एक अद्वितीय उदाहरण है। उनके छोटे से गांव से लेकर शिक्षा के क्षेत्र में उनके उत्कृष्ट सफलता और अपने शौक का पीछा करने की जो प्रेरणा है, इस श्रेष्ठ युवक के जीवन और उपलब्धियों को और नजदीक से देखते हैं।

प्रारंभिक जीवन: शुभम उनियाल जी

संगीताचार्य शुभम का जन्म उनके माता-पिता श्री संजय उनियाल और श्रीमती शकुंतला देवी के पास हुआ था। उनकी शिक्षा की यात्रा बिजयगढ़ प्राइमरी स्कूल में शुरू हुई, जहां उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा पूरी की। बाद में, उन्होंने विजयगढ़ के जनता जूनियर हाई स्कूल से अंतर्मीडिएट परीक्षा दी और उसके बाद उन्होंने अपनी उच्च शिक्षा श्री 108 स्वामी सच्चिदानंद वेद भवन संस्कृत महाविद्यालय से प्राप्त की, जहां से उन्होंने अपने शास्त्री आचार्य डिग्री प्राप्त की।

शिक्षा के प्रति अपनी समर्पण को जारी रखते हुए, उनियाल जी ने हेमवती नंदन बहुगुणा से शिक्षा शास्त्री डिग्री भी प्राप्त की।

आध्यात्मिक और कलात्मक परिपुर्णता: Uniyal vyas uttarakhand

शिक्षा के साथ-साथ, संगीत आचार्य शुभम के पास गहरा आध्यात्मिक और कलात्मक पक्ष भी है। 2019 में, कृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर, उन्होंने पहला भजन संध्या किया और इसे भगवान कृष्ण के पादों में समर्पित किया। यह आध्यात्मिक झलक उनके सांस्कृतिक और धार्मिक विरासत के प्रति उनके आदर्श को प्रकट करती है।

इसके अलावा, शुभम उनियाल जी ने प्रमुख संगीत शिक्षक प्रेरणा आचार्य दीपक नौटियाल जी के मार्गदर्शन में अपने संगीत कौशल को सुधारा है। इस प्रशिक्षण से उनके संगीत कौशल न केवल बढ़े हैं, बल्कि उन्हें अपने कलात्मक प्रतिभा को खोजने का भी अवसर प्राप्त हुआ है।

परिवार और व्यक्तिगत जीवन: Shubham Acharya ji

शुभम उनियाल एक प्यारे परिवार से आते हैं वे बड़े भाई के रूप में परिवार में एक विशेष स्थान रखते हैं, और उनकी प्राप्तियाँ उनके छोटे भाइयों और बहनों के लिए गर्व और प्रेरणा का स्रोत हैं।

बचपन से ही कला के क्षेत्र में संगीत के क्षेत्र में धार्मिक कार्यक्रमों में काफी सक्रिय रहते थे उन्होंने तमाम सांस्कृतिक कार्यक्रमो में अपने गीत भजनों से काफी लोगो का दिल जीत लिया था, अपने कला के क्षेत्र से काफी लोगो को जोड़ा है जिसमे उन्होंने अपनी एक पूरी टीम तैयार की हुई है जिसमे नाना प्रकार के वाद्य यंत्रों को सभी सहभागी प्रयोग करते है उनकी पूरी टीम अभी तक काफी जगह भजन संध्या, माँगल, तथा कथाओं के माध्यम से सेवा दे रहे है

उनका एक ही संकल्प है कि अपनी संस्कृति को सर्वप्रथम बढ़ावा देना चाइए जिसमे उनकी पूरी टीम कार्यरत है

More details about uniyal ji sanget acharya

शुभम उनियाल जी की यात्रा संकल्प और उत्साह की शक्ति का प्रमाण है। उनके छोटे से गांव से लेकर उनकी शिक्षा और कलात्मक प्रयासों तक, उन्होंने दिखाया है कि मेहनत और समर्पण के साथ किसी भी आधार से उठकर महानता हासिल की जा सकती है।

उनका अपने सांस्कृतिक और आध्यात्मिक रूपों के प्रति समर्पण, साथ ही उनका शिक्षा में समर्पण, आगामी व्यक्तियों के लिए एक अद्वितीय उदाहरण स्थापित करता है। शुभम उनियाल की कहानी हमें याद दिलाती है कि सफलता किसी भी सीमा को नहीं जानती है, और किसी की यात्रा किसी के लिए प्रेरणा हो सकती है।

contact

सम्पर्क शुभम उनियाल जी contact shubham uniyal ji

सम्पर्क शुभम उनियाल जी contact shubham uniyal ji

भजन संध्या, आरती, किर्तन, जागरण, सांस्कृतिक जागरण, सत्संग के लिए संपर्क कर सकते हैं

📲मोबाइल नंबर (कॉल करने के लिए क्लिक करें) 👉 7060477549 📲

whastappव्हाट्सएप्प से जुड़ने के लिए क्लिक करें 👉 click here

निवास स्थान

ग्राम नौला पोस्ट रतूडा जनपद रुद्रप्रयाग उत्तरखण्ड 246171

Acharya shubham uniyal ji information

joshimath suggetion हमारे द्वारा आचार्य शुभम उनियाल जी से सम्बन्धी अधिक से अधिक जानकारी प्रदान की गई है यदि आप किसी प्रकार का सुझाव या जानकारी देना चाहते हैं तो आप कॉमेंट या ईमेल के जरिए हमसे सम्पर्क कर सकते हैं | (ईमेल करने के लिए क्लिक करें)

Leave a Reply

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website.

You cannot copy content of this page