Maa Dhari devi situated at Pauri Garhwal Uttrakhand माँ धारी देवी श्रीनगर गढ़वाल dhari devi story history in hindi about Maa dhari devi

tourist place at uttrakhand
click to view in Large Size

माँ धारी देवी मंदिर तक कैसे पहुचे  How to reach at Maa Dhari Devi temple

माँ धारी देवी मंदिर तक पहुचने के लिए आपको श्रीनगर गढ़वाल या निकटवर्ती शहर रुद्रप्रयाग तक पहुचना होगा जिससे आप मोटर मार्ग द्वारा माँ धारी देवी के भव्य मंदिर तक पहुच सकते हैं |
सड़क तक पहुचते ही आपको माँ धारी देवी का मंदिर अलकनंदा नदी के बीचो बीच भव्यता के साथ दिखाई देने लगेगा और सडक पर ही दुकाने भी हैं जहाँ पर यदि आप अपनी गाड़ियाँ खड़ी कर सकते हैं और मंदिर के पास नीचे भी दुकाने हैं जिनसे आप पूजा का सामान खरीद सकते हैं परन्तु जैसे आप अलकनंदा नदी के उपर बने पुल मार्ग से होते हुए मंदिर की और बढ़ेंगे आपको कुछ इस प्रकार का एहसास होगा जो पहले कभी ना हुआ था अलकनंदा के उपर से आने वाली हवाए इतनी ठंडी और शांत करने वाली होती हैं की जब अप मंदिर परिसर के अंदर पहुचेंगे आप शांत और माँ धारी देवी के पास होने का अनुभव करने लगेंगे|
सड़क से मंदिर की कुछ छायाप्रति नीचे जोड़ी गयी है जिनमे से बायीं ओर की प्रति कुछ समय पहले ही ली गयी है जबकि दायी और की प्रति तब की है जब अलकनंदा नदी पर कोटेश्वर डाम का निर्माण नही किया या था और मंदिर नीचे अलकनंदा नदी के बीचो-बीच हुआ करता था |

 

माता कंसमर्दिनी मंदिर श्रीनगर गढ़वाल

 

dhaari devi धारी देवी
click to view in large image
dhari devi old image
click here to view in large size old image of dhari devi

माँ धारी देवी मंदिर की भव्यता Temple attraction of Maa Dhaari devi:-

माँ धारी देवी  का मंदिर हमेशा से ही श्रधालुओ के आकर्षण का केंद्र रहा है कहते हैं की यहाँ सच्चे मन से मन्नत मागने वालो की मन्नत पूरी हो जाती है और मंदिर स्वयं अलकनंदा नदी के बीचो-बीच खड़ा है और निकट कोटेश्वर डाम की वजह से मंदिर अलकनंदा नदी से उपर उठाया गया है |
और मंदिर तक पहुचने के लिए नदी के उपर से पुल मार्ग है जिस वजह से आप जब भी मंदिर मे दर्शन करने जायें तो आपको ऐसा एहसास होगा जो पहले कभी ना हुआ था और मंदिर से अलकनंदा नदी का जो छाया चित्र दिखाई देता है वह अपने आप में अलग ही है ( जिसका छाया चित्र नीचे जोड़ा गया है ) मंदिर पुल मार्ग से गुजरते हुए हवाए जिस प्रकार से मन को मोह लेती हैं और शांति प्रदान करती हैं ऐसा और कहीं भी नही होता मन मे श्रधा,भक्ति और माँ के पास आने का अनुभव बखूबी होने लगता है और हम आप से आग्रह करते है की एक बार मंदिर के दर्शन करने एक बार अवश्य आयें |
alaknanda photo dhari devi mandir
Alaknanda river view from Dhaari devi

माँ धारी देवी मंदिर से जुडी कहानियां Story related to Maa dhaari devi

Maa Dhari 1st story माँ धारी से जुडी पहली कथा 

  •  पहली किवदंती के अनुसार कहते हैं की माँ धारी देवी का सम्बन्ध धारी यानि पानी से हैं जिस कारण माँ धारी देवी Maa dhari devi का नाम धारी देवी पड़ा और यही वजह है की माँ धारी का मंदिर पानी के बीचो-बीच है |

 

कमलेश्वर महादेव श्रीनगर गढ़वाल

 

Maa Dhari 2nd story माँ धारी से जुडी पहली कथा 

  • एवं दूसरी किवदंती के अनुसार पहले अलकनंदा (Alaknanda)में पानी बहुत अधिक था और माँ धारी (maa dhari) की मूर्ति उस स्थान पर है ऐसा स्वपन्न नजदीकी गाँव धारी (Dhari village) के निवासी को आया और और माँ ने उन्हें कहा की मेरी मूर्ति को उसी स्थान पर स्थापित कर दो | जिसके उपरांत धारी (Dhaari) के निवासी ने माँ धारी की मूर्ति को माँ धारी (Maa Dhaari) वाले स्थान पर स्थापित किया |

Maa Dhari 3RD story माँ धारी से जुडी तीसरी कथा 

  • परन्तु कुछ समय पूर्व मंदिर में उपस्थित पुजारी द्वारा बताया गया की माँ धारी (Maa dhaari)की मूर्ति कब केसे यहाँ पर स्थापित हुई इसकी जानकारी किसी को भी नही है |

अब इन तीनो किवदंतियों में से कौन सत्य है यह तो आने वाला समय ही बतायेगा परन्तु श्रधालुओ का अटूट विश्वाश, श्रधा एवं भक्ति माँ धारी देवी  में आज भी है |

 

dhari dhari road or path photo
Maa dhari Temple gate images

Maa Dhari devi intesting fact माँ धारी देवी से जुडी रोचक तथ्य

कहा जाता है और भक्तो ने देखा भी है की माँ धारी  की मूर्ति दिन में तीन रूप धारण करती है
जिसमे माँ धारी सुबह छोटी बच्ची का रूप लेती है ,
तो वहीं दिन में युवती का रूप लेती हैं ,
और शाम को वृद्धा का रूप धारण कर लेती है |

माँ धारी देवी Maa dhaari devi temple

उम्मीद है आपको माँ धारी पर यह आर्टिकल पसंद आया होगा यदि कोई गलती हुई हो तो कमेंट कर आर्टिकल को और अच्छा बनाने में सहायता करें और यदि आपके पास माँ धारी से सम्बन्धित अन्य कोई जानकारी या कुछ भी ऐसा है जिसे आप हमारे साथ शेयर करना चाहते हैं तो आप हमे ईमेल या कमेन्ट कर जानकरी प्रदान कर सकते हैं|
हमे ईमेल करने के लिये यहाँ क्लिक करें

जय माँ धारी देवी Jay Maa Dhari Devi

श्रीनगर गढ़वाल पौड़ी से सम्बंधित अन्य लेख 

 

माँ चन्द्रबन्दिनी टिहरी

6 thoughts on “Maa Dhari devi ✅ District pauri near Srinagar Garhwal माँ धारी देवी श्रीनगर गढ़वाल

Leave a Reply

Your email address will not be published.

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website.